C और C++ क्या है और इनमे अंतर?

Difference between C and C++ in Hindi, नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है हमारी वेबसाइट हिंदी कक्षा पर जहा आज हम आपको बताएँगे C और C++ में क्या अंतर है और इनके बारे में बताएँगे की ये क्या होती है. आज इन्टरनेट के इस दोर में जहा आज हर तरफ इन्टरनेट फेला हुवा है यही कारण है की आज नयी-नयी नौकरी भी निकल आ रही है और सभी के घर लैपटॉप कंप्यूटर आज जाने से लोग चाहते है की उनको भी कोई स्किल आणि चाहिए जो की वो अपनी जॉब और स्कूल के साथ-साथ सिख सके और कुछ एक्स्ट्रा इनकम या अपनी ड्रीम जॉब पा सकते.

इतना तो आपको पता जी होगा की ये दोनों programming language और आज के समय में जब दुनिया आधुनिक होती जा रही है वाही पर programming language को भी अब लोग जानने लगे है और इनसे जॉब पाने के बारे अब लोगो में जागरूकता बाद रही है और इनकी तरफ रुजान होता जा रहा है.

C और C++ में अंतर क्या है उससे पहले आपको ये पता होना चाहिए की ये दोनों क्या होते है और कैसे इनको सीखते है अवं इनसे जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी और सम्पूर्ण जानकारी आपको इस आर्टिकल में मिल जाएगी.

C क्या है? (C Programming in Hindi)

C programming language को Dennis Ritchie ने 1970 में, Bell Labs में डेवेलोप किए था. ये एक high programming language है इसे ज्यादातर ऑपरेटिंग सिस्टम या फिर सिस्टम सॉफ्टवेर को डेवेलोप करने में प्रयोग की जाती है. C language की पहली और मुख्य एप्लीकेशन UNIX Operating System था. इसे firmware को डेवेलोप करने में भी प्रयोग किया जाता है.

C Programming के फायदे!

जैसे की हमने बताया की C language क्या होती है और अब बात कर लेते है इसके फायदे की जो हमें लगता है की आपको पता होना चाहिए.

  • C language सिखने में आसान होती है इसे आप कम समय और मेहनत में सिख सकते है
  • ये एक high level की लैंग्वेज होती है जिसे operating system बनाने जैसे कई अन्य काम किये जाते है.
  • इस language में अन्य language की तुलना में कम keywords होते है.
  • Bit manipulators के साथ-साथ C language में Mathematical और logical operators भी होते है.
  • low level access memory और clean style होता है.
  • C programming language में कमांड को lower case letter में लिखा जाता है.
  • इसमें बने प्रोग्राम्स काफी तेज होते है. और तेज प्रोग्राम बनाने की लिए ही इसका प्रयोग किया जाता है.
  • इसमें system software के साथ-साथ application software को भी बनाया जा सकता है.
  • हमारे जीवन में रोज इस्तेमाल होने वाले कुछ सॉफ्टवेर जैसे – music player or video player जैसे कई अन्य प्रोग्राम इसी में बनाये जाते है.

>>Resume और CV में अंतर आसान भाषा में

C programming language के मौलिक सकल्पना (Concepts of C programming)

  • Basic Syntax
  • Functions
  • Variables
  • Constant
  • Data Type
  • Operators
  • Loops
  • Array
  • Pointers
  • String

C language को कैसे सीखे

हम आपको पहले बता चुके है की C programming language को सीखना आसान होता है अन्य programming language की तुलना में, इसके साथ-साथ या बाद में यदि आप कोई भी language सीखना चाहते है तो उसके लिए आप offline tuition, books या भी online classes एवं paid courses का तरीका को अपनाते है. निचे हमने आपको एक विडियो दी है जो की Code with Harry के नाम के एक youtube चैनल की है. इस लड़के का नाम हैरी है और ये बहुत अच्छा सिखाते है आप इनसे भी सिख सकते है. इस विडियो में इन्होने आपको अपने हाथ से लिखे हुवे notes भी दिए है जिन्हें समझना और अप्लाई करना आसान हो जाता है.

C language को कहाँ पर मुख्य रूप से इस्तेमाल किया जाता है?

  • Operating System
  • Assemblers
  • Print spoolers
  • Modern Programs
  • Games
  • Apps and Software
  • Utilities
  • Network Driver
  • Database

>>CV का फुल फॉर्म क्या है?

C++ क्या है? (C++ programming language in Hindi)

C++ को Bjarne Stroustrup ने 1979-1983 के बीच विकसित किया गया था, कुछ वेबसाइट और आर्टिकल में इसको 1979 भी लिखा गया है, इसमें परेशानी की कोई बात नहीं है दोनों ही सही है यदि आप से कोई पूछे की इसे कब बनाया गया था तो आप कोई सा भी बता सकते है. C++ एक Object Oriented Programming Language है जो की C programming language का एक extended रूप है. इसका इस्तेमाल भी operating system और कई अन्य प्रकार के सॉफ्टवेर बनाने में किया जाता है. इसका इस्तेमाल UNIX, system software, or operating system बनाने में किया जा चूका है. Object oriented programming language में classes का प्रयोग किया जाता है और इन्ही classes को UDDT(User Defined Data Type) कहा जाता है.

C++ के फायदे (Feature of C++ programming Language in Hindi)

  • यह एक OOP यानि Object Oriented Programming Language है.
  • यह आज के सभी object oriented programming language में सबसे बढ़िया और ऊपर मणि जाती है.
  • यह language दोनों लेवल High level और low level दोनों का ही एक कॉम्बिनेशन है.
  • इस भाषा को भी आसानी से सिखा जा सकता है.
  • इसे सीखना के बाद कोई भी object oriented programming language को सीखना आसान हो जाता है.
  • जो काम आप C language में कर सकते है वो काम आप इसमें भी कर सकते है.
  • ये language platform Dependent है.

C++ के सिधांत(Principles of object oriented C++ programming language)

  • Class
  • Objects
  • Inheritance
  • Abstraction
  • Encapsulation
  • Polymorphism
  • Message Passing

C++ Programming Language को कैसे सीखे?

जैसा की हमने पहले आपको बताया है की आप कोई भी programming language सिखने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाते है जैसे की offline tuition, online courses जैसे माध्यम अपनाते है इस language को भी आप जैसे सिखाना चाहते है वैसे ही सिख सकते है. C++ programming language को सिखने की लिए मैंने आपको निचे एक विडियो दिया है जिससे आपको सिखने में सुरुवाती रास्ता मिल जाएगा और आपके basic clear हो जायेगे.

C और C++ में अंतर (Difference Between C and C++ in Hindi)

  • C program को procedures और modules में बता गया है वही C++ को functions तथा Classes में बाट दिया गया है.
  • C++ एक object oriented programming language है वही पर C programming procedure oriented programming language है.
  • C++ में आपको exceptional handling का फीचर भी मिलता है वही C programming में ये फीचर नहीं है.
  • C में virtual function नहीं है पर C++ में virtual function का फीचर है.
  • C++ में bottom-up और C में top-down approach का प्रयोग किया जाता है.
  • C में inheritance का फीचर उपलब्ध नहीं है परन्तु C++ में यह फीचर उपलब्ध है.
  • C++ में function overloading है परन्तु C programming में ये नहीं है.
  • C programming language में namespace नहीं होता है पर C++ में namespace होता है.
  • Polymorphism concept, operator overloading, encapsulation, reference variable, exception handling जैसे Concept C++ में तो अवेलेबल है पर C programming में ये उपलब्ध नहीं है.

>>गारंटी और वारंटी में अंतर आसान भाषा में

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा मैं आपको Difference between C and C++ in Hindi (C and C++ में अंतर). मैंने आपको दोनों को समझाने के लिए आसान भाषा का प्रयोग किया है. जिससे की आप आसानी से समझ सके की ये C kya hai, C++ kya hai, इनके फायदे और इनको कैसे सीखते है वो भी आज मैंने इस आर्टिकल में बता दिया है. हमने ये आर्टिकल पूरी जानकारी के साथ लिखा है जिससे की आपको किसी दूसरी वेबसाइट पर जाने की जरुरत न पड़े और आपका समय भी बचेगा क्युकी ये आर्टिकल आसान भाषा में लिखा गया है आपको समाज तो आया होगा. यदि आपको हमारे इस आर्टिकल या किसी अन्य आर्टिकल में कुछ गलती लगती है या फिर आपके पास हमारी वेबसाइट से जुड़े कुछ सुझाव है तो आप हमें कमेंट कर जरुर बताये. आपके पास यदि कोई सवाल है वो भी आप हमसे कमेंट में पूछ सकते है.

3 thoughts on “C और C++ क्या है और इनमे अंतर?”

Leave a Comment