CV का फुल फॉर्म क्या है?

CV full form in Hindi, आप में से कई लोगो ने इसके बारे में सुना होगा पर क्या आप ये जानते है? की इसका फुल फॉर्म क्या है और CV क्या है. नमस्कार, आप सभी का स्वागत है हमारे ब्लॉग हिंदी में सहायता पर जिसमे आज हम आपको बताएँगे की CV full form क्या है? और what is CV in Hindi.

जब कोई भी नौकरी पाना चाहता है तो कंपनी सबसे पहले उससे CV or Resume मांगता है, जैसे की बात हम CV की कर रहे है, CV एक ऐसा डॉक्यूमेंट होता है जिसमे आपके बारे में, आपकी पढाई के बारे में, आपके स्कूल, कॉलेज के बारे में लिखा होता है.

CV Full Form in Hindi

CV की फुल फॉर्म Curriculum Vitae होती है. और इसे बायोडाटा भी कहा जाता है.

CV क्या है? – What is CV in Hindi

CV का मतलब है Curriculum Vitae. इसको लैटिन भाषा से से लाया गया है जिसका मतलब होता है, “Course of Life”. इसमें सब कुछ आपके बारे में ही लिखा होता है और इसमें कितने पेज होंगे वो आपके ऊपर निर्भर करता है, जैसे यदि आपके पास मल्टीप्ल डिग्री है तो आपका CV बड़ा होगा उसके CV से जिसने सिर्फ 10+2 या सिर्फ उसके पास एक ही डिग्री है. इसकी लम्बाई 2-3 पेज होती है और ये बढ़कर 4-5 भी जा सकती है.

cv full form

CV में आपके बारे में सभी डिटेल जैसे: आपकी सभी कौशल (Skills), सभी जॉब्स जितनी भी आपने की है और उन जॉब्स में आपकी क्या पद(position) रही है. आपकी सभी डिग्री और पेशेवर(professional) डिग्री भी लिखी जाती है. CV में आप अपने सभी उपलब्धियों के बारे में लिख सकते है और आज तक आपने जितने काम किये है उसमे आप अपना काम, आपका क्या किरदार, अपने उस काम से क्या हासिल किया, आपकी क्या उपलब्धिया लिख सकते है.

CV में आप उन चेतावनियों के बारे में भी लिख सकते जो की आपने अपनी लाइफ में सकारात्मक रूप से उनका जवाब दिया है. CV को ज्यादातर नए लड़के-लडकियों से माँगा जाता है मतलब फ्रेशेर्स से ही माँगा जात है. ये हमेशा इंटरव्यू में मांगी जाती है. जॉब बदलने हेतु भी आप इसका प्रयोग कर सकते है.

CV कैसे लिखे?

एक CV लिखने से पहले आपको कुछ बातो को ध्यान में रखना होगा ये कुछ केंद्र बिंदु है जिन्हें आप इस्तेमाल कर सकते है. आप इसमें अपनी तरफ से भी कुछ ऐड कर सकते है जो आपको लगता है की ठीक रहेगा या फिर आपकी जॉब के लिए वो फ्यादेबंद रहेगा. किसी भी जॉब की CV लिखने से पहले उस जॉब के बारे में अच्छे तरीके से दो तीन बार पढ़े जीससे की ये आपकी मदद करे एक बेहतर CV लिखने में और जॉब दिलाने में.

1. सम्पर्क सूत्र(कांटेक्ट इनफार्मेशन)

इसमें आपको अपनी CV में आपका नाम, फ़ोन नंबर, ईमेल एड्रेस और आप अपने घर का पता भी डाल सकते है. इस इनफार्मेशन से कंपनी को आपसे संपर्क करने में आसानी होती है, अगर आप चुन लिए जाते हो तो आपको आपके ईमेल या फ़ोन नंबर के द्वारा बता दिया जायेगा.

2. विधा-संबंधी (अकादमिक इनफार्मेशन)

इसमें आपको आपके शेक्षिकता के बारे में लिखना होता है अगर आपको इसको उल्टा लिखे तो ये होर भी बेहतर रहेगा. जैसे पहले प्रोफेशनल डिग्री, साधारण डिग्री, ग्रेजुएशन, 12 वी,10 वी. आप इसमें तारिक भी लगा सकते है और सिर्फ दो हल के ही लिखने होते है.

3. नौकरी और पद (प्रोफेशनल एक्सपीरियंस)

इसमें आपको कंपनी और संस्था जिसके लिए आपने काम किया है, किस पद पर काम किया है और किस तारिक को आपकी न्युक्ति हवी थी आपने कब तक काम किया. सबसे पहले हाल ही की नौकरी फिर उस से पहली और फिर उस से पहली के आर्डर में लिखनी चाहियें. आपको उससे क्या तजुर्बा मिला और आपने क्या उपलब्धिया मिली जो आपने नौकरी की और इस नौकरी में आपके काम आएगी.

4. उचिल कौशल और योग्यता

सबसे पहले जॉब के बारे में बढ़िया तरीके से दो तीन बार पढ़िए फिर उस नौकरी की हिसाब से ही आप अपने स्किल्स और और योग्यता एक अलग सेक्शन में अपने CV में लिखी चाहिए. इससे आप उनकी नजरो में आ सकते है जिससे आप उन कैंडिडेट से अलग उभर कर आयेंगे जिसमे इस नौकरी की योग्यता पर उन्होंने बताई नहीं या उनमे वो कौशल और योग्यता है ही नही फिर भी नौकरी के लिए वे लोग अप्लाई कर रहे है.

5. आदर और पुरुष्कार (हॉनर और अवार्ड्स)

CV में आपको मिले आदर और पुरुष्कार भी लिख सकते है इसके लिए अलग सेक्शन बनाये और उसमे अवार्ड्स का नाम कंपनी और संस्था के नाम के साथ लिखे और किस काम या योग्यता के लिए आपको वो मिला था और किस साल में मिला था. आपके अवार्ड्स और हॉनर ही आपको और आपके कौशल को प्रकाशित करते है.

6. प्रशंसा पत्र (सर्टिफिकेट)

अपने CV में आप अपने सर्टिफिकेट को भी लिख सकते है जैसे सर्टिफिकेट का नाम, किस आर्गेनाईजेशन या कंपनी दुवारा दिया गया, अपने उससे क्या कोष प्राप्त किया. सर्टिफिकेट को आप अपने CV के साथ भी लगा सकते है अगर आपको जॉब के बारे में अच्छे से पढ़कर ये लगता है की ये सर्टिफिकेट आपको आपके नौकरी पाने में कुछ मदद कर सकता है, तो आप बेफिक्र होकर इस सर्टिफिकेट के बारे में बता सकते है.

7.शोंक (हॉबी)

आपकी हॉबी क्या है? वो भी आप अपनी CV में लिख सकते है ये आपकी पर्सनालिटी को रिफ्लेक्ट करती है की आप किस प्रकार के व्यक्ति हो.

8. प्रेजेंटेशन

आप अपने CV में आपकी कुछ प्रेजेंटेशन भी सामिल कर सकते आप उनके नाम और उनके बारे में कुछ लिख सकते है, जिससे की जब आप इंटरव्यू में जाते है और आप कोई जबरदस्त प्रेजेंटेशन उनके सामने पेश करते है तो हो सकता है की आप ये सुनने के लिए मिल जाये, Salary कितनी लोगे.

CV के कुछ उधारण – CV Examples

cv examples

cv examples

cv examples

जो भो फोटो हमने CV के एक्साम्प्ले के लिए प्रयोग किये है वो सभी फोटो freepik.com से लिए गए हम इसके लिए इनका धन्यवाद करते है.

इन्हें भी पढ़े:

निष्कर्ष – आपने क्या समझा?

जैसे की आपने पढ़ा हमने आपको CV Full Form के साथ साथ आपको CV kya hota hai और CV में क्या लिखना चाहिए, CV के कुछ उधारण भी दिए गए. हमने आपको आसान-से-आसान भाषा में समझाने की कोशिश की है, हमें उम्मीद है की ये आपको समझ भी आई होगी. यदि आपका कोई सवाल है या आप को इस आर्टिकल में कुछ गलती लगती है तो कमेंट कर बताने में बिलकुल न हिचकिचाए. आपके सवाल का हल देना ही हमारा काम है और इसी काम के लिए हम यह आये है. वैसे हम हमारी वेबसाइट हिंदी में सहायता पर आसान भाषा में समझते है, और हम इस वेबसाइट पर जीवनी भी लिखते जिन्हें आप पढ़ सकते है. धन्यवाद.

 

 

Leave a Comment